खेल

ISL 2018-19 : कोई अनहोनी ही एफसी गोवा को रोक सकती है फाइनल में जाने से



एफसी गोवा के प्रशंसक मुंबई सिटी एफसी के साथ होने वाले सेमीफाइनल मैच से पहले काफी रोमांचित होंगे. और हो भी क्यों नहीं. इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के इस सीजन में उनका क्लब शानदार फॉर्म में चल रहा है. बीते सीजन में गोवा को सेमीफाइनल से बाहर जाना पड़ा था, लेकिन उसके प्रशंसक चाहते हैं कि उनका क्लब इस बाधा को पार करे और चैंपियन बनने का गौरव हासिल करे.

गोवा के लिए अच्छी खबर यह है कि उसका सामना ऐसी टीम से होने जा रहा है, जिसे उसने लीग स्तर पर दोनों मौकों पर हराया है और उसके खिलाफ इसने सात गोल किए हैं, अब ऐसे में गोवा के खिलाड़ी आत्मविश्वास से लबरेज तो होंगे ही. गौर्स नाम से मशहूर गोवा की टीम ने लीग स्तर में ही जबरदस्त सुधार किया है. इस टीम ने कम से कम गोल खाए हैं और आठ क्लीन शीट मेंटेन किए हैं. इस टीम ने जहां एक तरफ कम से कम गोल खाए हैं वहीं सबसे अधिक गोल किए हैं. सर्गियो लोबेरा की टीम ने 20 गोल खाए हैं जबकि 36 गोल किए हैं और इनमें से 15 गोल सिर्फ फेरान कोरोमिनास के नाम है, जो गोल्डन बूट के सबसे बड़े दावेदार हैं.

कोच लोबेरा ने कहा, ‘इस सीजन से पहले हम डिफेंस में कुछ समस्याओं का सामना कर रहे थे, लेकिन अब लगता है कि हम सुधार कर रहे हैं. इसके अलावा प्रदर्शन के आधार पर हमें निरंतरता बनाए रखनी थी और हम इस लक्ष्य को भी काफी हद तक हासिल करने में सफल रहे हैं. टीमें उतार-चढ़ाव का सामना करती हैं लेकिन हमारे लिए इस सीजन में चीजें संतुलित रहीं.’

स्पेनिश कोच लोबेरा ने डिफेंस में माउतोर्दा फाल और कार्लोस पेना को बनाए रखा, जो क्लब के लिए काफी अहम साबित हुआ. यह एक मास्टरस्ट्रोक की तरह था, क्योंकि इस जोड़ी ने उम्मीद से बढ़कर गोवा के गोलपोस्ट की रक्षा की है. डिफेंस में मंदार राव देसाई ने शानदार सुधार किया है और एक बेहतरीन डिफेंडर बनकर उभरे हैं. लोबेरा ने इस युवा खिलाड़ी को मेकशिफ्ट लेफ्ट बैक के तौर पर बीते सीजन में आजमाया था और इस खिलाड़ी ने इस पोजीशन को आत्मसात कर लिया था. राइट फ्लैंक में शेरिटन फर्नांडिस ने बेहतरीन सुधार किया है.

बीते साल गोवा को गोलकीपर लक्ष्मीकांत काट्टीमनी की गलतियों का खामियाजा भुगतना पड़ा था, लेकिन इस साल लोबेरा ने मोहम्मद नवाज को इस काम के लिए ट्रेन किया और इस गोलकीपर ने पोस्ट के बीचों-बीच हैरान कर देने वाला प्रदर्शन किया है. इसके अलावा लोबेरा ने नवीन कुमार को भी इस काम के लिए तैयार किया और अब नवीन टीम के दूसरे सबसे भरोसेमंद गोलकीपर बन चुके हैं.

गोवा ने जितना सुधार किया है, उसका क्रेडिट लोबेरा को दिया जाना चाहिए. लोबेरा हमेशा से मानते रहे हैं कि अटैक ही सबसे अच्छा डिफेंस है और इस सीजन में लोबेरा की टीम ने दोनों विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया है. ऐसे में गोवा की टीम इस बार खिताब तक पहुंचना चाहती है.

Source link

%d bloggers like this: