खेल

ग्रैबिएल-रूट विवाद पर बोले स्टुअर्ट ब्रॉड, 'जो राह चलते नहीं कह सकते वह ग्राउंड पर क्यों'



इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच हुए सेंट लूसिया में खेले गए टेस्ट मैच के दौरान शेनॉन ग्रेबिएल की टिप्पणी के बाद विवाद थमा नहीं है. डेली मेल के लिए लिखे अपने ब्लॉग में इंग्लैंड के गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने इसे लेकर अपनी राय सामने रखी है. इस विवाद के बाद ग्रैबिएल पर चार वनडे मैचों का बैन लगाय़ा गया है. उन्होंने रूट पर होमोफोबिक कमेंट किया था.

ब्रॉड ने कहा कि इन दिनों माइक्रोफोन पर बहुत ज्यादा फोकस किया जा रहा है खासकर रूट और ग्रैबिएल विवाद के बाद. मुझे नहीं लगता इसमें कुछ गलत है.’ उन्होंने इस पर अपनी राय रखते हुए कहा, ‘मुझे लगता है हमें क्रिकेट ग्राउंड पर ऐसा कुछ नहीं कहना चाहिए जो आप स्ट्रीट पर नहीं कहेंगे. क्या रोड पर चलते वक्त आप इस तरह की निजी चीजें नहीं कहते हैं तो ग्राउंड पर क्यों’.

स्लेजिंग को लेकर भी ब्रॉड ने अपने बारे में भी लिखा, ‘जब मैं किसी बल्लेबाज को स्लेज करता हूं मैं अपनी सीमा में रहता हूं, मैं खेल को लेकर चीजें कहता हूं. मैं कभी उन पर निजी हमले नहीं करता’ अगर पिछले साल स्टंप माइक ऑन रहता तो अंपायर का काम काफी बढ़ सकता था खासकर ऑस्ट्रेलिया को लेकर.’ इस साल एशेज को लेकर उन्होंने कहा, ‘इस बार ऑस्ट्रेलिया दबाव में होगा. उन पर उनके व्यवहार की सीमा को ना लांघने का भी दबाव होगा. टिम पेन जैसा कप्तान मुझे लगता है वहां ऐसा कुछ नहीं होगा’.

Source link

%d bloggers like this: