खेल

Strandja Memorial Boxing : अमित पंघाल ने किया सीजन का शानदार आगाज, भारत के पांच पदक पक्के



एशियन गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता अमित पंघाल ने सत्र की शानदार शुरुआत करते हुए रविवार को सेमीफाइनल में जगह बनाई जिससे भारत के बुल्गारिया के सोफिया में चल रहे 70वें स्ट्रेंडजा मेमोरियल मुक्केबाजी टूर्नामेंट में पांच पदक पक्के हो गए. पंघाल ने पुरुषों के 49 किग्रा में उक्रेन के नजर कुरोतचिन को 3-2 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई और अपने लिए पदक पक्का किया.

इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के तीसरे दिन की समाप्ति पर भारत की चार महिला मुक्केबाजों ने भी पदक पक्के किए. लवलीना बोरगोहीन (69 किग्रा) ने ब्राजील की सोरेज बीटरिज को 5-0 से हराकर महिला मुक्केबाजों में पहला पदक पक्का किया. इसके बाद मंजू रानी ने 48 किग्रा में इटली की बोनाती राबर्टा को 5-0 से हराकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की की.

ये भी पढ़ें- ISL 2018-19 : केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ एफसी गोवा की नजरें प्लेऑफ पर

पूर्व विश्व जूनियर चैंपियन निकहत जरीन ने उम्मीदों पर खरा उतरते हुए बेलारूस की बुरयाम याना को 5-0 से शिकस्त दी. महिला मुक्केबाजी में दिन के अंतिम मुकाबले में नीरज ने अमेरिका की एमिलया मूरे को 5-0 से हराकर पदक पक्का किया. सोनिया लाठेर को हालांकि 57 किग्रा में अमेरिका की रोमिरेज यारिसेल से 1-4 से हार झेलनी पड़ी.

इससे पहले राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेताओं गौरव सोलंकी (52 किग्रा) और नमन तंवर (91 किग्रा) ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता सोलंकी ने अपनी पहले दौर की जीत के 24 घंटे के भीतर दोबारा रिंग में कदम रखा और शनिवार रात हुए कड़े मुकाबले में कजाखस्तान के अनवर मुजापारोव को 3-2 से हराया. अंतिम आठ के मुकाबले में सोलंकी का सामना उज्बेकिस्तान के फेजोव कुदोनयाजर से होगा. फेजोव ने प्रीक्वार्टर फाइनल में खंडित फैसले से स्थानीय दावेदार टिंको बनाबाकोव को हराया.

ये भी पढ़ें- पुलवामा अटैक के बाद शांति की अपील करने वाली सानिया क्यों हो गईं ट्रोल

पिछले साल राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीतने वाले 19 साल के तंवर ने पोलैंड के माइकल सोजिन्स्की के खिलाफ 5-0 की आसान जीत दर्ज की. वह अगले दौर में उक्रेन के सेरही होर्सकोव से भिड़ेंगे जिन्होंने प्री क्वार्टर फाइनल में सर्बिया के डार्को स्टेनकोविच को 5-0 से हराया. उलानबटोर कप के स्वर्ण पदक विजेता अंकुश दहिया को हालांकि शिकस्त का सामना करना पड़ा. दहिया को एक मिनट से कुछ अधिक समय में मैसेडोनिया के जेसिन लामा ने हराया. लामा के दबदबे को देखते हुए रेफरी ने बीच में ही मुकाबला रोक दिया.

Source link

%d bloggers like this: