ज्योतिष

सूर्य आपके धन के दूसरे घर में बुध के साथ स्थित है, और बुधादित्य योग का निर्माण कर रहा है। ऐसे में इस साल आप नौकरी के लिहाज से हर क्षेत्र में सफलता हासिल करेंगे। कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि आप को पदोन्नति हासिल होगी।

ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि वैदिक ज्योतिष पर आधारित भविष्यफल पढ़ने के बाद आप साल 2021 में होने वाली सभी प्रकार के घटना-दुर्घटना से पूर्व में ही परिचित हो जाएंगे और आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप नए वर्ष की पूरी योजना बनाने में सफल रहेंगे। यह भविष्यवाणी चन्द्र राशि, लग्न तथा वैदिक ज्योतिष के आधार पर किया गया है। इस वार्षिक राशिफल को छह अलग-अलग विषयों में बाँटकर प्रस्तुत किया जा रहा है। इसमें कॅरियर, आर्थिक स्थिति, परिवार, प्रेम-रोमांस, शिक्षा और स्वास्थ्य शामिल है।

आइये विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास से जानते है कि नववर्ष 2021 में वृश्चिक राशि का राशिफल कैसा रहेगा।

इसे भी पढ़ें: तुला राशि के जातकों का वर्ष 2021 में कैसा रहेगा भविष्यफल, जानिए

ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि यह साल आपके लिए कई मायनों में अच्छा रहेगा। हालांकि आपको स्वास्थ्य से संबंधित मिश्रित परिणामों की प्राप्ति होगी। पुरानी चली आ रही बीमारी से आपको छुटकारा मिल जाएगा। आपको जीवन से जुड़े कई मोर्चों पर काफ़ी मेहनत करनी होगी। प्रेम जीवन के लिए वर्ष काफी अनुकूल रहेगा और आप में से कुछ लोगों को विवाह का योग बन रहा है इस मौके का लाभ उठाएं। आप अपने प्रियतम को अपना बनाने में सफल होंगे। हालांकि विवाहित लोगों के दांपत्य जीवन में उतार-चढ़ाव की स्थिति रह सकती है। इस वर्ष गुरु का पराक्रम भाव में होना आपके लिए शुभ कारक रहेगा। जिससे आपके कार्यों व आपके पराक्रम में उन्नति होगी। भाग्य आपका साथ देने लगेगा तथा अपने दिमाग का पूरा इस्तेमाल करने से आपको मान-सम्मान भी प्राप्त होगा। इस वर्ष छात्रों को पढ़ाई-लिखाई में फल तो अनुकूल प्राप्त होंगे, लेकिन उसके लिए आपको पहले से अधिक मेहनत करने की ज़रूरत होगी। 

कॅरियर 

सूर्य आपके धन के दूसरे घर में बुध के साथ स्थित है, और बुधादित्य योग का निर्माण कर रहा है। ऐसे में इस साल आप नौकरी के लिहाज से हर क्षेत्र में सफलता हासिल करेंगे। कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि आप को पदोन्नति हासिल होगी। साथ ही अगर आप नौकरी बदलने के बारे में विचार कर रहे हैं तो यहां पर भी आपको अनुकूल परिणाम प्राप्त होगा। इसके अलावा इस राशि के जो जातक सरकारी नौकरी, बैंक की नौकरी या खेल-कूद से संबंधित नौकरी के क्षेत्र से जुड़े हैं उन्हें इस वर्ष सफलता हासिल होगी। जनवरी में धनु राशि में शुक्र के गोचर के परिणाम स्वरूप कॅरियर के लिहाज से आपके लिए क्या अच्छा साबित होगा आपको इस बात की अच्छे समझ हासिल होगी। इसके अलावा मकर राशि में शनि की मौजूदगी आपको जीवन में जोखिम लेने और सफल बनाने में मददगार साबित होगी। कार्यक्षेत्र में आपके विरोधी या शत्रु आपके लिए अड़चनें पैदा कर सकते हैं। हर किसी पर भरोसा और विश्वास ना दिखाएं और अपनी क्षमता के अनुसार काम करने से बिल्कुल भी नहीं चूके। अगर ग्रह और नक्षत्र आपके पक्ष में है तो आपको अपने पेशेवर जीवन में अचानक प्रगति मिलने की प्रबल संभावना है। इसके अलावा इस राशि की नौकरी पेशा लोगों को अपने कार्यस्थल पर सम्मान हासिल होगा।

आर्थिक स्थिति 

वर्ष 2021 की शुरुआत में सूर्य के साथ बुध की युति आपके लिए आर्थिक पक्ष के लिहाज से अनुकूल परिणाम लेकर आएगी। जब आपके पास लोगों परिस्थितियों और आसपास के वातावरण का उचित ज्ञान हो तो आप अपने लिए उचित आय अर्जित करने में सक्षम रहते हैं। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि साल की शुरुआत निवेश या व्यय करने के लिहाज़ से अनुकूल नहीं है। 05 जनवरी को मकर राशि में बुध का गोचर आपके लिए प्रतिकूल साबित हो सकता है, इसलिए इस दौरान आपको किसी भी तरह के खर्च करने से बचने की सलाह दी जाती है।मार्च के महीने में आपको सतर्क रहने की सलाह दी जाती है, ताकि कोई भी आर्थिक रूप से आपको धोखा ना दे सके या आपका फायदा ना उठा सके। इसके बाद अप्रैल के महीने में आपको आर्थिक पक्ष के लिहाज़ से मज़बूती हासिल होगी। 6 अप्रैल को कुंभ राशि में बृहस्पति के परिवर्तन के बाद आपको वर्ष-भर आर्थिक पक्ष के लिहाज से स्थिरता हासिल होगी। हालांकि छोटे-मोटे बदलाव पर आपको समय-समय पर ध्यान देना पड़ सकता है। चौथे भाव में बृहस्पति का गोचर के परिणाम स्वरूप आप भूमि, घर या वाहन आदि की खरीद या निवेश कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: कन्या राशि के जातकों का वर्ष 2021 में कैसा रहेगा भविष्यफल, जानिए

परिवार 

ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि पारिवारिक जीवन के संदर्भ में इस वर्ष वृश्चिक जातकों को मिश्रित परिणाम हासिल होंगे, क्योंकि बृहस्पति शनि के साथ युति में आप के तीसरे घर में स्थित है। इस वर्ष आप अपने परिवार के साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे। साथ ही बृहस्पति और शनि के संयोजन के परिणाम स्वरूप आपको अपने परिवार के सदस्यों का भरपूर समर्थन हासिल होगा। फरवरी के मध्य में शुक्र चौथे घर में कुंभ राशि में प्रवेश करेगा। इस दौरान आपको अपनी माँ से भरपूर स्नेह और प्रेम हासिल होगा। इसके बाद मार्च में बुध कुंभ राशि में परिवर्तन करेगा, जिसके परिणाम स्वरूप आप अपने माता पिता के साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे। आप अपने पारिवारिक दायित्वों को बेहद ही गंभीरता से लेते हैं और उन्हें पूरा करने के लिए आप खुद पर थोड़ा दबाव भी बना सकते हैं। इस वर्ष आपको अपने पिता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ी चिंता हो सकती है। इस वर्ष आपको अपने वैवाहिक जीवन में मिश्रित परिणाम हासिल होंगे। वैवाहिक जीवन के स्वामी शुक्र केतु के साथ युति में है, साथ ही सप्तम भाव में राहु की मौजूदगी अनावश्यक मुद्दों पर दंपतियों के बीच लड़ाई की स्थिति पैदा कर सकती है। 

प्रेम-रोमांस 

इस वर्ष वृश्चिक राशि के जातकों को औसत परिणाम हासिल होंगे। पंचम भाव पर शनि के पहलू के परिणाम स्वरूप आपको परिवार के बुजुर्गों के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि नए प्रेम संबंधों को शुरू करने के लिए यह साल अनुकूल साबित होगा। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि पार्टनर के बीच कुछ वैचारिक मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अगर आप आपस में बात करते हैं, एक दूसरे की बात को समझते हैं और एक दूसरे से अपने मन की बात शेयर करते हैं तो आप इस परेशानी से उभर सकते हैं। मंगल के गोचर के प्रभाव स्वरूप प्यार में पड़ने के लिए फरवरी का महीना अति उत्तम साबित हो सकता है। हालांकि मार्च के महीने में आप केवल बातों से नहीं बल्कि काम के लिहाज़ से आश्वस्त होने में ज्यादा विश्वास रखेंगे। 6 अप्रैल को बृहस्पति कुंभ राशि में गोचर करेगा। यह समय विवाह के लिए बेहद अनुकूल साबित हो सकता है। 

शिक्षा

इस वर्ष वृश्चिक राशि के जातकों को मिश्रित परिणाम हासिल होंगे। शिक्षा का स्वामी बृहस्पति आप के तीसरे घर में मौजूद है जो इस वर्ष आपकी पढ़ाई के संदर्भ में आपके जीवन में कुछ मुश्किलें ला सकता है। इस दौरान पढ़ाई से आपका ध्यान भटक सकता है और आप थोड़ा चिंतित महसूस कर सकते हैं। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि शनि और बृहस्पति की युति आपको कोई भी चीज बेहतर तरीके से सीखने और समझने में मजबूत बनाएगी। साथ ही आपको अपने ज्ञान को व्यवहारिक रूप से समझने में भी सक्षम करेगी। इसके अलावा शनि जो कि आप के तीसरे घर में स्थित है, आपको आपको सीखी हुई चीजों का अभ्यास करने में मददगार साबित होगा। साथ ही बृहस्पति आपके व्यवहारिक ज्ञान के साथ वैचारिक ज्ञान के साथ अच्छा समन्वय प्रदान करेगा। इसके अलावा इस राशि के जो छात्र किसी प्रतियोगी परीक्षा या सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा में बैठने वाले हैं उन्हें इस पर निश्चित रूप से सकारात्मक परिणाम हासिल होगा।

इसे भी पढ़ें: सिंह राशि के जातकों का वर्ष 2021 में कैसा रहेगा भविष्यफल, जानिए

स्वास्थ्य 

वृश्चिक राशि के जातकों को इस साल मिश्रित परिणाम हासिल होंगे। आपके स्वास्थ्य का स्वामी मंगल इस साल की शुरुआत में मेष राशि के छठे घर में स्थित है। इस राशि के जातकों को किडनी या यूरिन से संबंधित कोई बीमारी है उन्हें विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि साल के शुरुआती कुछ महीने जैसे जनवरी, फरवरी और मार्च के दौरान आपके लिए स्वास्थ्य के मुद्दे परेशानी का कारण बन सकते हैं, डॉक्टर द्वारा बताई गई उचित देखभाल और दवा इत्यादि समय-समय पर लेते रहें। आपको दैनिक दिनचर्या बनाने, अपने खान-पान में सुधार और किसी भी तरह की लापरवाही से बचने के लिए भी सलाह दी जाती है। इसके अलावा अगर इस राशि के जो जातक पुरानी किसी बीमारी से लंबे समय से ग्रस्त हैं तो इस दौरान उन्हें अपनी हालत में सुधार देखने को मिलेगा। अंत में सलाह यही दी जाती है की चिंता छोड़ कर अपने जीवन का पूरा आनंद ले और अपने स्वास्थ्य की ओर ध्यान केंद्रित रखें बाकी सब अच्छा होगा।

ज्योतिष उपाय

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि सूर्य को जल मे चीनी मिलाकर अर्ध्य दें। रोज़ाना घर से निकलने से पहले अपने मस्तक पर शुद्ध केसर अथवा हल्दी का तिलक लगाएँ। अपने निवास स्थान पर रुद्राभिषेक पूजन करें।

– अनीष व्यास

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक

Source link

%d bloggers like this: