खेल

IPL 2019 : मांकडिंग पर अश्विन ने कहा, यह अचानक हुआ, खेलभावना का मसला कहां से आया!



विचंद्रन अश्विन को आईपीएल मैच में जोस बटलर को ‘मांकडिंग’ आउट करने का कोई मलाल नहीं है और उन्होंने कहा कि यह फैसला उन्होंने अनायास लिया और अगर यह खेल भावना के विपरीत है तो क्रिकेट के नियमों पर पुनर्विचार होना चाहिए. किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान अश्विन ने जयपुर में सोमवार की रात को राजस्थान रॉयल्स के बटलर को मांकडिंग करके बड़े विवाद को जन्म दे दिया. इंडियन प्रीमियर लीग के 12 साल के इतिहास में इस तरह आउट होने वाले बटलर पहले खिलाड़ी बने.

टीवी रिप्ले में दिख रहा था कि अश्विन ने गिल्लियां बिखेरने से पहले बटलर के क्रीज से बाहर निकलने का इंतजार किया. अश्विन ने मैच जीतने के बाद कहा, ‘ यह अनायास लिया गया फैसला था. यह सोच समझकर नहीं किया गया. यह नियम के दायरे में था. मुझे समझ में नहीं आता कि खेल भावना का मसला बीच में कहां से आया. यह नियमों में है. शायद हमें नियमों पर पुनर्विचार करना होगा.’

उन्हें याद दिलाया गया कि वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान कर्टनी वाल्श ने लाहौर में 1987 विश्व कप के अहम मैच में इस तरह के हालात में पाकिस्तान के सलीम जाफर को बख्श दिया था. इस पर अश्विन ने तीखी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, ‘ उस समय ना तो मैं खेल रहा था और ना ही बटलर. ऐसे में यह तुलना बेमानी है.’

इस पर भी बहस हो रही है कि क्या अश्विन ने जान बूझकर गेंद लोड करने में विलंब किया. अश्विन ने कहा, ‘ मैंने गेंद लोड भी नहीं की थी और वह क्रीज से बाहर आ गया. यह क्रीज का मेरा हाफ है और मेरा हमेशा से यही मानना रहा है.’ उन्होंने यह भी कहा कि बल्लेबाज को इस तरह के मैच की तस्वीर बदलने वाले पलों में क्रीज जल्दी छोड़ने से बचना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘ हमने कोई गलती नहीं की. लेकिन मेरा मानना है कि ये मैच का रुख बदलने वाले पल है और बल्लेबाज को एहतियात बरतनी चाहिए.’

उन्होंने अपने गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा, ‘ हमें पता था कि छह ओवर के बाद पिच धीमी हो जाएगी. गेंदबाज बधाई के पात्र हैं जो वैरिएशन पर काम करते रहे. सैम करन की शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन उन्होंने शानदार वापसी की. हमारे पास काफी विकल्प हैं लेकिन पांच ओवर अच्छे निकल जाएं तो इससे बेहतर क्या हो सकता है.’

Source link

%d bloggers like this: