ज्योतिष

दिवाली से पहले धनतेरस पर पूजा का विशेष महत्व होता है। इस दिन धन और आरोग्य के लिए भगवान धन्वंतरि और कुबेर की पूजा की जाती है। धनतेरस 13 नवंबर को मनाया जाएगा। वहीं धनतेरस के दिन कुछ खास सामान को खरीदने का भी काफी महत्व माना जाता है।

औषधियों के जनक भगवान धनवंतरी की जयंती यानी धनतेरस का पर्व इस 13 नवंबर को मनाया जा रहा है। कहा जाता है कि समु्द्र मंथन के दौरान भगवान धनवंतरी और मां लक्ष्मी का जन्म हुआ था, यही वजह है कि धनतेरस को भगवान धनवंतरी और मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है। भारतीय कैलेंडर के अनुसार कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धन की देवी के उत्सव का प्रारंभ होने के कारण इस दिन को धनतेरस के नाम से जाना जाता है। धनतेरस को धन त्रयोदशी व धन्वन्तरी त्रयोदशी के नाम से भी जाना जाता है। धनतेरस दिवाली के दो दिन पहले मनाया जाता है।

पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि धनतेरस के दिन खरीदारी करना बेहद शुभ माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन खरीदारी करने से धन समृद्धि बढ़ती है। इतना ही नहीं धनतेरस पर कुबेर देव की पूजा करने का भी विधान बताया गया है। ऐसे में अगर आप पैसों की किल्लत से जूझ रहे हैं तो मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए धनतेरस  के दिन अपने घर इनचीजों में से कोई एक चीज जरूर खरीदकर लाएं।

इसे भी पढ़ें: सुख-समृद्धि में और वृद्धि की कामना का महापर्व है धनतेरस

धनतेरस पर खरीदे यह सामान

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि दिवाली से पहले धनतेरस पर पूजा का विशेष महत्व होता है। इस दिन धन और आरोग्य के लिए भगवान धन्वंतरि और कुबेर की पूजा की जाती है। इस पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि धनतेरस 13 नवंबर को मनाया जाएगा। वहीं धनतेरस के दिन कुछ खास सामान को खरीदने का भी काफी महत्व माना जाता है। मान्यता है कि धनतेरस के दिन कुछ खास चीजों को खरीदना काफी शुभ रहता है। इन शुभ चीजों को खरीदने से घर परिवार में सुख शांती बनी रहती है और धन लाभ भी होता है। आइए जानते हैं ऐसी ही विशेष चीजों के बारे में जिन्हें धनतेरस के दिन खरीदा जाना चाहिए।

सोना-चांदी

धनतेरस के दिन धातु की खरीद को काफी अहम माना जाता है. मान्यता है कि इस दिन धातु को खरीदने से भाग्य अच्छा बनता है। परंपरा है कि धनतेरस के दिन सोना, चांदी जरूर खरीदना चाहिए। इस दिन बजट के मुताबिक सोना, चांदी के सिक्के, गहने, मूर्ति जैसी चीजों की खरीद की जा सकती है।

कुबेर यंत्र

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि धनतेरस पर कुबेर यंत्र खरीदना भी शुभ माना जाता है। इसे अपने घर, दुकान के गल्ले या तिजोरी में स्थापित करना चाहिए. इसके बाद 108 बार ‘ऊँ यक्षाय कुबेराय वैश्रववाय, धन-धान्यधिपतये धन-धान्य समृद्धि मम देहि दापय स्वाहा’ मंत्र का जप करना चाहिए। इस मंत्र से धन की कमी का संकट दूर होता है।

श्री कुबेर मंत्र:

ॐ श्रीं ह्रीं दरिद्र विनाशनि धनधान्य समृद्धि देहि,

देहि कुबरे शंख विध्ये नमः ।।

तांबा

धनतेरस के दिन तांबे की वस्तुएं या बर्तन लाने का काफी महत्व रहता है। यह सेहत के लिए भी शुभ माना जाता है। साथ ही कांसा से बनी सजावटी वस्तुएं या बर्तन भी घर लेकर आ सकते हैं।

झाडू

धनतेरस के दिन झाडू भी खरीदा जाता है। मान्यता है कि इस दिन झाडू खरीदने से गरीबी दूर होती है। साथ ही नई झाडू से नकारात्मक ऊर्जा दूर जाती है और घर में लक्ष्मी का वास होता है।

शंख-रूद्राक्ष

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि धनतेरस के दिन शंख खरीदने को काफी शुभ माना जाता है। इस दिन शंख खरीदकर उसकी पूजा करें। शास्त्रों के मुताबिक जिस घर में रोजाना पूजा के वक्त शंख बजाया जाता है, उस घर से मां लक्ष्मी कभी नहीं जाती। साथ ही घर के संकट भी दूर हो जाते हैं। इसके अलावा सात मुखी रूद्राक्ष धनतेरस के दिन घर पर लाने से सारे कष्ट दूर होते हैं।

भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की मूर्ति

विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि धनतेरस के दिन भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की मूर्ति भी घर में लानी चाहिए। मान्यता है कि इससे घर में पूरे साल धन और अन्न की कमी नहीं होती है। दोनों देवी देवता धन और बुद्धि बढ़ाते हैं।

इसे भी पढ़ें: धनतेरस के दिन आरोग्य के देवता धन्वंतरी और यम की पूजा का महत्व

नमक-धनिया

धनतेरस के दिन नमक जरूर खरीदें। ऐसा माना जाता है कि इस दिन नमक घर में लाने से धन की बढ़ोतरी होती है और दरिद्रता का नाश होता है। इसके अलावा धनिया भी इस दिन घर में लाना चाहिए। साबुत धनिया लाने का काफी महत्व है। इसे पूजा के बाद अपने घर के आंगन और गमले में डाल देना चाहिए।

मिट्टी के दीपक

दिपावली रोशनी का त्योहार है और दीपक को रोशनी का प्रतीक माना जाता है। दीपक के बिना  दिपावली अधूरी मानी जाती है। ऐसे में धनतेरस पर 51 छोटे-छोटे दीपक घर पर खरीद लाएं।

गोमती चक्र

धनतेरस पर पाँच गोमती चक्र खरीदने चाहिए। दीपावली के दिन गोमती चक्र मां लक्ष्मी को अर्पित करने के बाद अगले दिन उन्हें अपनी तिजोरी में रख दें।

विश्व विख्यात भविष्यवक्ता एवं कुंडली विश्ल़ेषक अनीष व्यास बता रहे है कि धनतेरस पर राशि अनुसार खरीदें वस्तुएं।

मेष राशि- सोना-चांदी की वस्तु, जमीन।

वृषभ राशि- चांदी, हीरा की वस्तु, जमीन, वाहन।

मिथुन राशि- जमीन जायदाद, इलेक्ट्रॉनिक सामान, सोना-चांदी की वस्तु।

कर्क राशि- सोना-चांदी की वस्तु, शेयर मार्केट में निवेश और जमीन।

सिंह राशि- सोना, तांबा, फर्नीचर, शेयर मार्केट में निवेश।

कन्या राशि- सोना-चांदी, इलेक्ट्रॉनिक सामान, जमीन।

तुला राशि- चांदी, शेयर मार्केट में निवेश और वाहन की खरीदारी से बचें।

वृश्चिक राशि- सोना-चांदी, जमीन और किसी भी तरह का निवेश।

धनु राशि- सोना, इलेक्ट्रॉनिक सामान और जमीन।

मकर राशि- चांदी, जमीन और इलेक्ट्रॉनिक सामान।

कुंभ राशि- सोना-चांदी की वस्तु और फिक्स डिपॉजिट।

मीन राशि- हर प्रकार का निवेश और खरीदारी उत्तम रहेगी।

धनतेरस के दिन खरीदारी का शुभ मुहूर्त

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि इस साल त्रयोदशी तिथि 12 नवंबर की रात 9 बजकर 30 मिनट से लग जाएगी, जो कि 13 नवंबर की शाम 6 बजे समाप्त होगी। 

13 नवंबर को खरीदारी का शुभ मुहूर्त

सुबह 5:59 से 10:06 बजे तक।

सुबह 11:08 से दोपहर 12:51 बजे तक। 

दोपहर 3:38 मिनट से शाम 5:00 बजे तक।

– अनीष व्यास

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक

Source link

%d bloggers like this: