तुर्की और ग्रीस में आए शक्तिशाली भूकंप से 22 लोगों की मौत, 700 से अधिक घायल

इस्तांबुल
ग्रीस और तुर्की में शुक्रवार को आए शक्तिशाली भूकंप के चलते कम से कम 22 लोगों की मौत हो गई है। अभी भी राहत और बचाव कार्य जारी है और गिरी इमारतों से लोगों को निकाला जा रहा है। भूकंप के बाद समोस के एजियन द्वीप पर सुनामी भी आई, जिसके कारण समुद्र के पानी ने तुर्की में शहर की सड़कों को नदियों में बदल दिया। यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने कहा, ग्रीस के कारलोवसी शहर से 14 किलोमीटर (नौ मील) की दूरी पर 7.0 तीव्रता का झटका आया। अधिकांश नुकसान इज़मिर के तुर्की के एजियन रिसॉर्ट शहर के आसपास हुआ। यहां करीब 30 लाख लोग रहते हैं और यह इलाका उच्च अपार्टमेंट ब्लॉकों से भरा हुआ है। हवाई फुटेज में दिखाया गया कि पूरा शहर मलबे में बदल गया है। इज़मिर के मेयर टुनक सोयर ने बताया, 20 इमारतें ढह गई है, जिसमें से 17 लोगों को बचाया। तुर्की की आपदा राहत एजेंसी ने 20 मौतों और लगभग 800 लोगों के घायल होने की सूचना दी है, जबकि ग्रीस में दो किशोरों की स्कूल से घर जाते समय मौत हो गई, जब भूकंप के कारण एक दीवार ढह गई। तबाही के दृश्यों को देखकर लग रहा है कि मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है। तुर्की के धार्मिक मामलों के निदेशालय ने आपदा से बेघर हुए लोगों को शरण देने के लिए अपनी मस्जिदें खोलीं है।
क्षेत्र के राज्यपाल ने कहा, शुक्रवार शाम तक 70 लोगों को जिंदा बाहर निकाला गया था, हालांकि कितने लोग लापता थे, इस बात का अंदाजा अभी नहीं लगाया जा सकता। भूकंप के उपरिकेंद्र के पास समोस के ग्रीक द्वीप पर लोग दहशत में सड़कों पर निकल आए।
डिप्टी मेयर गियोर्गोस डायोनिसियो ने कहा, “हमने कभी ऐसा कुछ अनुभव नहीं किया।” यूनानी नागरिक सुरक्षा एजेंसी ने एक संदेश में समोस निवासियों को “इमारतों से बाहर खुले में और बाहर रहने के लिए” कहा।
ग्रीस और तुर्की दुनिया के सबसे सक्रिय भूकंप क्षेत्रों में से एक में स्थित हैं। दोनों पड़ोसी नाटो सैन्य गठबंधन के सदस्य हैा, लेकिन दोनों के एक-दूसरे से संबंध खराब हैं। लेकिन भूकंप के बाद दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने एक-दूसरे को कॉल किया।
ग्रीक प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर कहा, “हमारे मतभेद जो भी हैं, ये ऐसा समय हैं जब हमें लोगों को एक साथ खड़े होने की जरूरत है”। एर्दोगन ने जवाब में ट्वीट किया ”धन्यवाद, प्रधान मंत्री”।

%d bloggers like this: