मनोरंजन

बाफ्टा में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का खिताब जीतने वाले पहली नस्ली महिला झाओ ने यह पुरस्कार खानाबदोश समुदाय को समर्पित किया जिन्होंने उनकी टीम को अपने जीवन को समझने देने के लिए उदारता से मौका दिया।

लंदन। निर्देशक क्लो झाओ की फिल्म “नोमैडलैंड” सर्वश्रेष्ठ फिल्म समेत चार बड़े पुरस्कार जीतकर 74वें ब्रिटिश एकेडमी फिल्म एंड टेलीविजन अवार्ड्स (बाफ्टा) में शीर्ष पर रही।
फिल्म की मुख्य कलाकार फ्रांसेस मैकडोरमेंड ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का खिताब जीता जबकि सर्वेश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार झाओ ने अपने नाम किया। फिल्म सिनेमेटोग्राफी श्रेणी में भी विजेता रही।
बाफ्टा में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का खिताब जीतने वाले पहली नस्ली महिला झाओ ने यह पुरस्कार खानाबदोश समुदाय को समर्पित किया जिन्होंने उनकी टीम को अपने जीवन को समझने देने के लिए उदारता से मौका दिया।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से जंग जीत कर घर वापस लौटे अक्षय कुमार, ट्विंकल ने किया ये पोस्ट

निर्देशक ने इस अवसर पर दिए भाषण में कहा, “उन्होंने अपने सपनों, संघर्षों और सम्मान के प्रति अपनी गहरी समझ को हमारे साथ साझा किया। यह दिखाने के लिए शुक्रिया कि बढ़ती उम्र जीवन का एक खूबसूरत हिस्सा है, एक ऐसा सफर जिसका हम सबको आनंद उठाना चाहिए। हम अपने बुजुर्गों के साथ कैसा व्यवहार करते हैं यह एक समाज के तौर पर हम कैसे हैं और हमें क्या बेहतर करने की जरूरत है, यह दिखाता है।”
बाफ्टा में फिल्म को मिले इन पुरस्कारों के बाद इस माह के अंत में होने जा रहे ऑस्कर पुरस्कार समारोह में भी इसके अव्वल दावेदार होने की संभावना काफी बढ़ गई है।
मैकडोरमेंड ऑनलाइन माध्यम से कार्यक्रम से नहीं जुड़ पाईं लेकिन उन्होंने लिखित संदेश में बाफ्टा का धन्यवाद किया।
उन्होंने कहा, “प्यारे ब्रिटेन वासियों, धन्यवाद। मैं ‘नोमैडलैंड’ की टीम की तरफ से यह सम्मान स्वीकार करती हूं। हम आपको सलाम करते हैं।”
एंथनी हॉपकिन्स अभिनीत “द फादर” के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अनुभवी अभिनेता का पुरस्कार मिला। इसी श्रेणी में भारत के आदर्श गौरव को ‘‘द व्हाइट टाइगर’’ में उनकी भूमिका के लिए नामित किया गया था।
‘द फादर’ को रूपांतरित पटकथा के लिए भी बाफ्टा दिया गया।

इसे भी पढ़ें: दीपिका पादुकोण ने MAMI के चेयरपर्सन पद से अचानक दिया इस्तीफा, जानें क्या है कारण

सहायक अभिनेत्री श्रेणी में, पुरस्कार दक्षिण कोरिया की दिग्गज अदाकार यूह जंग योन को ‘‘मिनारी” में नानी की भूमिका निभाने के लिए मिला जबकि डैनियल कलूया को “जूडास एंड द ब्लैक मसीहा” में भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार मिला।
एमरेल्ड फेनेल की “मी टू” ड्रामा “प्रॉमिसिंग यंग वूमेन” को समारोह में सर्वश्रेष्ठ ब्रिटिश फिल्म घोषित किया गया। नेटफ्लिक्स की हिट फिल्म “द क्राउन” में कैमिला पार्कर बाउल्स की भूमिका निभाने वाली फेनेल को पटकथा श्रेणी में भी पुरस्कार हासिल हुआ।
किसी ब्रिटिश लेखक, निर्देशक या निर्माता की पहली बेहतरीन फिल्म का पुरस्कार रेमी वीक्स की ‘‘हिज़ हाउस” को गया।
थॉमस विंटरबर्ग की “अनदर राउंड” को अंग्रेजी में नहीं बनी सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला।
वहीं वृत्तचित्र श्रेणी में “माय ऑक्टोपस टीचर” ने बाफ्टा पुरस्कार अपने नाम किया।
एनिमेटेड फिल्म के लिए बाफ्टा पीटे डॉक्टर डाना मुर्रे की “सोल” को मिला। फिल्म को दूसरा पुरस्कार ‘ऑरिजनल स्कोर श्रेणी’ में मिला।
एडिटिंग और साउंड श्रेणी में रिज अहमद अभिनीत “साउंड ऑफ मेटल” ने दो पुरस्कार अपने नाम किए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Source link

%d bloggers like this: