खेल

Christchurch Mosque Shootings: कुछ मिनट की देरी से बांग्‍लादेशी टीम को मिला नया जीवन



न्यूजीलैंड में हुए आतंकवादी हमले में बाल बाल बचे बांग्लादेश क्रिकेट टीम के मैनेजर खालिद मसहूद ने कहा कि वे काफी खुशकिस्मत रहे क्योंकि अगर तीन चार मिनट पहले पहुंचे होते तो मस्जिद के भीतर होते. बांग्लादेश को शनिवार से न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरा और आखिरी टेस्ट खेलना था. उस समय टीम मस्जिद की ओर जा रही थी जो उन दो जगहों में से एक थी जहां हुए आतंकवादी हमले में कम से कम 49 लोग मारे गए. दौरा अब रद्द कर दिया गया है.

बांग्लादेश के पूर्व कप्तान मसहूद ने कहा कि मैं यही कहूंगा कि हम सच में खुशकिस्मत थे. यदि हम तीन या चार मिनट पहले पहुंचे होते तो हम मस्जिद के भीतर होते. यह बड़ा हादसा हो जाता.

उन्होंने कहा कि हम शुक्रगुजार है कि हम फायरिंग में नहीं फंसे, लेकिन हमने जो देखा वह किसी फिल्म के मंजर जैसा था. हमने मस्जिद से लहुलुहान लोगों को बाहर निकलते देखा. उन्होंने कहा कि आठ दस मिनट तक तो हम बस के भीतर ही सिर झुकाकर बैठे रहे. बस में टीम के 17 सदस्य थे जबकि लिटन दास, नईम हासम और स्पिन गेंदबाजी कोच भारत के पूर्व स्पिनर सुनील जोशी होटल में ही थे .

मसहूद ने कहा कि यह ऐसी घटना थी जिसके बारे में कोई सोच नहीं सकता था. हम खुशकिस्मत हें कि हम बस में थे. सौम्या सरकार भी वहीं थे. हम मस्जिद में नमाज पढने जा रहे थे.

उन्होंने कहा कि दो ही खिलाड़ी होटल में थे और बाकी सभी मस्जिद जा रहे थे. हम मस्जिद के बेहद करीब थे और बस से देख सकते थे. हम मस्जिद से 50 गज की दूरी पर थे.

Source link

%d bloggers like this: